कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से भी बचाव करता है लहसुन

आयुर्वेद में लहसुन को ‘चमत्कारी दवा’ माना जाता है। लहसुन की गंध से मच्छर भी दूर भागते हैं। पेट खराब से लेकर डायबिटीज, ठंड और यहां तक कि कैंसर तक में लहसुन बहुत फायदेमंद माना जाता है। लहसुन केवल खाने में इस्‍तेमाल होने वाला एक पदार्थ नहीं है, बल्कि यह एक गुणकारी दवा है। उससे जुकाम, फ्लू, रक्तचाप, कैंसर से बचाव के गुण पाए जाते हैं। Benefits Of Eating Garlic

कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज में लहसुन का सेवन बहुत फायदेमंद माना जाता है। लहसुन के फायदे के बारे में आयुर्वेद के साथ-साथ अब एलोपैथिक विशेषज्ञ भी समझते हैं। यही वजह है कि चिकित्सक अक्सर डाइट में लहसुन के सेवन को फायदेमंद बताते हैं। आइए जानें क्या हैं लहसुन खाने के फायदे।

 

लहसुन के फायदे –

  • लहसुन का रस शरीर की गंदगी को त्‍वचा के रोम छिद्रों द्वारा बाहर करने में मदद करता है.
  • जिन्हें दिल की बीमारी हो, उनके लिए लहसुन बहुत फायदेमंद होता है. यह कोलेस्‍ट्रॉल के स्तर को कम करके हार्ट अटैक और हार्ट ब्‍लॉकेज को रोकता है.
  • अगर आपको सुगर की बीमारी है, तो आपको एक लहसुन हर दिन खाना चाहिए. यह खून में इंसुलिन के स्तर को बढ़ाता है जिससे शरीर स्‍वस्‍थ्‍य रहता है.
  • यह संक्रमण से लड़ने में हमारे शरीर की मदद करता है.
  • लहसुन हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है. लहसुन क़ी कलियों को पानी में तब तक उबालें, जब तक ये मुलायम न हो जाएँ, इसके बाद इस उबले पानी में सिरका मिला दें, और थोड़ी मात्रा में शक्कर मिलकर सीरप बना लें, ऐसा करने से बनी दवा दमा के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होती है.
  • अगर आपके कानों में संक्रमण या दर्द हो, तो हल्का गर्म करके लहसुन के तेल की 2-3 बूंदें अपने कानों में डालें. यह कान के बैक्‍टीरिया को मार कर बाहर निकाल देगा.
  • लहसुन हमारे शरीर के रक्त संचार को भी बेहतर करता है. शरीर से गंदगी को बाहर निकालता है.
  • यह फेफड़ों की जकड़न को ठीक करने में मदद करता है, और सर्दी जुकाम को रोकने में सहायता करता है.
  • अपने पाचन तंत्र को मजबूत बनाने के लिए हर दिन खाना खाने के बाद लहसुन की कुछ कलियाँ जरुर खाएँ. जब भी मीट या वसा वाला खाना खाएँ तब भी इसे खाएँ, यह फायदा पहुँचायेगा.
  • जुखाम हो गया हो या ठंड लग गई हो, तो लहसुन को पीस लें और गर्म कर लें. इस पेस्‍ट को खा लें इससे आपको सर्दी जुखाम में आराम मिलेगा.

दिल के लिए अत्‍यंत लाभकारी है लहसुन

लहसुन आपके शरीर में बैड कोलेस्‍ट्रोल का स्‍तर कम करता है। इससे आपका दिल हमेशा सेहतमंद रहता है। लहसुन शरीर में गुड कोलेस्‍ट्रोल के स्‍तर को बढ़ाने का भी काम करता है। उच्‍च रक्‍तचाप को दूर करने में भी लहसुन काफी फायदेमंद होता है। हाई बीपी के मरीज अगर नित लहसुन का सेवन करें तो इससे उनका बीपी नॉर्मल रखने में मदद मिलती है। इसमें मौजूद एलिसिन नामक तत्व हाई बीपी को सामान्य करने में मददगार है।

रक्‍त संचार रहता है दुरुस्‍त

जिन लोगों का खून गाढ़ा होता है लहसुन उनके लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। यह शरीर में रक्‍त प्रवाह सुचारू बनाए रखता है। खून का पतला करता है जिससे आप कई संभावित रोगों से बचे रहते हैं।

कैंसर से लड़े लड़ाई

लहसुन का एक गुण यह भी है कि यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा करता है। कई जानकार तो यह भी मानते हैं कि यह कैंसर जैसे गंभीर रोग से लड़ने में भी कारगर हथियार है। डॉक्‍टर पैनिक्रयाज पैनिक्रयाज, कोलोक्टोरल, ब्रेस्ट और प्रोस्टेट कैंसर में लहसुन के कच्चे जवे खाने की सलाह देते हैं।

ठंड से बचाने का कुदरती उपाय

लहसुन की तासीर गर्म होती है। और ठण्‍ड को दूर करने का यह कुदरती उपाय है। कई शोध इस बात को साबित कर चुके हैं कि ठंड के दिनों में लहसुन के सेवन से सर्दी नहीं लगती। सर्दियों के मौसम में गाजर, अदरक और लहसुन का जूस बनाकर पीने से शरीर को एंटीबायोटिक्स मिलते हैं और ठंड कम लगती है।

दांत दर्द से दिलाए राहत

लहसुन दांतों के दर्द से भी राहत दिलाने का काम करता है। लहसुन को लौंग के साथ पीसकर दांतों के दर्द वाले हिस्से पर लगाने से दर्द से तुरंत राहत मिलती है।

गर्भावस्था में फायदेमंद

गर्भावस्था के दौरान लहसुन का नियमित सेवन मां और शिशु, दोनों के स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। यह गर्भ के भीतर शिशु के वजन को बढ़ाने में सहायक है। गर्भवती महिलाओं को लहसुन का सेवन नियमित तौर पर करना चाहिए। गर्भवती महिला को अगर उच्च रक्तचाप की शिकायत हो तो, उसे पूरी गर्भावस्था के दौरान किसी न किसी रूप में लहसुन का सेवन करना चाहिए। यह रक्तचाप को नियंत्रित रख कर शिशु को नुकसान से बचाता है। उससे भावी शिशु का वजन भी बढ़ता है और समय पूर्व प्रसव का खतरा भी कम होता है।

Written by Anil

Content Writer

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *